bread

ग्लेज ट्रेडिंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड


ग्लेज के बारे में

देश की सर्वश्रेष्ठ डायरेक्ट सेलिंग कंपनियों में से एक ग्लेज़ ट्रेडिंग इंडिया प्रा. लि. की स्थापना साल 2003 में दो दूरदर्शी उद्यमियों श्री संजीव छिब्बर और श्री चेतन हांडा द्वारा की गई थी। ग्लेज़ की स्थापना का मुख्य उद्देश्य सबका साथ-सबका विकास की तर्ज पर एकजुटता में सफलता को बढ़ावा देना है। इसके साथ-साथ इस व्यवसाय से जुड़े लोगों की जिंदगी को समृद्ध बनाना तथा उपभोक्ताओं को बेहतर अनुभव देना भी ग्लेज़ की स्थापना का मुख्य उद्देश्य रहा है।

अगर संक्षेप में कहें तो ग्लेज़ ट्रेडिंग इंडिया प्रा. लि. का मूल सिद्धांत विशेष रूप से तैयार करवाए गए अपने उच्च गुणवत्ता वाले एफएमसीजी उत्पादों को किफायती दामों पर उपभोक्ताओं तक पहुंचाना तथा इस व्यवसाय से हुए मुनाफे को वितरण और विपणन में लगे अपने चैनल पार्टनर्स के साथ बांटना है। यानी एक ऐसे व्यवसाय का निर्माण करना, जिसके द्वारा अर्जित किए गए धन को प्रतिभागियों के बीच समृद्धि लाने के लिए साझा किया जा सके।

कंपनी के संस्थापकों की स्पष्ट दृष्टि, जुनून, सकारात्मक दृष्टिकोण, महत्वाकांक्षी स्वभाव, व्यावहारिकता तथा इनके नेतृत्व में काम करने वाली प्रबंधकीय कर्मियों की कोर टीम ने कंपनी को बहुत तेजी से सफलता के इस मुकाम पर पहुंचाने में मदद की है। आज देश भर में करीब 40 लाख से ज्यादा ऐसे स्वतंत्र वितरक हैं, व 256 से ज्यादा फ्रेंचाइजीज हैं जोकि गैलवे बिज़नेस मॉडल के तहत देखे गए सपनों को साकार करने की दिशा में काम कर रहे हैं। ग्लेज़ का यह कुशल और व्यापक स्वतंत्र डिस्ट्रीब्यूटर नेटवर्क देश के प्रत्येक उपभोक्ता तक गैलवे उत्पादों की पहुंच को सुनिश्चित करता है। भले ही ये उपभोक्ता देश के किसी भी अति-दुर्गम अथवा दूर-दराज के क्षेत्रों में रहते हों।

सफलतापूर्वक बिज़नेस करते हुए ग्लेज़ ने पिछले 16 सालों में इस क्षेत्र में ऐसी विशेषज्ञता हासिल कर ली है जोकि इसे सर्वश्रेष्ठ डायरेक्ट सेलिंग कंपनी बनाती है। सादगीपूर्ण मूल्यों और जीवन की विभिन्न आकांक्षाओं, उम्मीदों, सपनों, पुरस्कार, स्वामित्व, एकजुटता व जीतने के स्वभाव जैसे मूल्यों पर आधारित ग्लेज़ की अवधारणा ऐसी है कि साधारण से साधारण व्यक्ति भी कठीन लक्ष्य को हासिल कर सकता है।

डायरेक्ट सेलिंग बिज़नेस में गुणवत्ता-युक्त उत्पादों को प्रत्यक्ष रूप से उपभोक्ताओं तक सीधे उनके दरवाजे पर बाकायदा विवरण और प्रदर्शन के बाद बेचा जाता है। इस व्यवसाय में पारंपरिक खुदरा बिक्री प्रारूप का सहारा लिए बिना लॉयल्टी और रिवॉर्ड कार्यक्रमों के माध्यम से अपने उपभोक्ताओं के साथ एक दीर्घकालीन रिश्ता भी बनाया जाता है।

जूमला डिबग कंसोल

सत्र

प्रोफ़ाइल जानकारी

मेमोरी उपयोग

डेटाबेस क्वेरी